JAC-Board

JAC Board:जैक बोर्ड के 8वीं 9वीं 10वीं 11वीं 12वीं के लिए बहुत बड़ी खबर-बडा बदलाव !

जैक बोर्ड (JAC Board) कि आगामी होने वाले बोर्ड परीक्षा को लेकर के बहुत बड़ा बदलाव कर रहा है जो कि सभी विद्यार्थियों को जानना चाहिए इसमें परीक्षा से लेकर के सिलेबस तक में बदलाव किया जाएगा।

JAC-Board
JAC-Board

जैक नयी शिक्षा नीति (Jac Board News Education Policy )के प्रावधानों के आधार पर निर्णय,राज्य में आगे भी मैट्रिक व इंटर की परीक्षा दो टर्म में ही.
राँची:राज्य में आगे भी मैट्रिक और इंटर की परीक्षा दो टर्म में लेने की तैयारी है. इसे लेकर स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव ने अधिकारियों के साथ बैठक की परीक्षा आगे भी दो टर्म में लेने को लेकर विभिन्न पहलुओं पर विचार किया गया. बैठक में यह बात सामने आयी कि नयी शिक्षा नीति में परीक्षा सेमेस्टर में लेने की बात कही गयी है. नयी शिक्षा नीति के प्रावधान को देखते हुए इसे आगे भी जारी रखने पर विचार किया जा रहा है. वर्ष 2022 में कोविड संक्रमण के कारण परीक्षा दो टर्म में ली गयी है. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग द्वारा इस संबंध में अगले माह तक अंतिम निर्णय ले लिया जायेगा. दो टर्म में परीक्षा होने पर प्रथम चरण की परीक्षा ओएमआर शीट पर और दूसरे टर्म की परीक्षा उत्तरपुस्तिका पर ली जायेगी दोनों टर्म की परीक्षा में पांच से छह माह का अंतराल रखा जायेगा. प्रथम चरण की परीक्षा सितंबर-अक्तूबर तक और दूसरे चरण की परीक्षा मार्च-अप्रैल में ली जा सकती है. परीक्षा 40-40 अंकों की होगी, जबकि 20 अंक का आंतरिक मूल्यांकन व प्रायोगिक परीक्षा होगी. इसके लिए सिलेबस को भी दो भाग में बांटा जायेगा. दोनों टर्म के लिए सिलेबस अलग-अलग होगा. मैट्रिक और इंटर के अलावा कक्षा आठवीं, नौवीं व 11वीं की बोर्ड परीक्षा में भी दो टर्म की परीक्षा को लागू किया जा सकता है.

REcommended

सिलेबस पर होगा विचार

New Session Syllabus:कोविड के कारण वर्ष 2021-22 में शैक्षणिक सत्र को 31 जुलाई तक बढ़ाया गया है. पूर्व में सत्र अप्रैल में शुरू हो जाता था. सत्र को तीन माह बढ़ाया गया है. ऐसे में वर्ष 2023 में मैट्रिक व इंटर (Jac board 10th 12th exam 2023) की परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों का 10वीं व 12वीं का सत्र जुलाई में शुरू होगा. वर्ष 2023 की मैट्रिक इंटर की परीक्षा मार्च में शुरू हो सकती है. ऐसे में वर्ष 2023 के मैट्रिक व इंटर के परीक्षार्थियों को आठ माह का समय पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए मिलेगा. ऐसे में कक्षा 10वीं व 12वीं के पाठ्यक्रम में कटौती पर भी विचार किया जा सकता है।

Join Us On TelegramClick Here
Follow Us On YouTubeClick Here
Follow Us On Google NewsClick Here

Post Your Comments